सॉफ्टवेयर क्या है? – What Is Software In Hindi?

What Is Software In Hindi?

सॉफ्टवेयर क्या है? यह सवाल ज्यादातर सभी के मन में रहता है इसलिए आज आपकी इस समस्या के लिए मैं आपको इस आर्टिकल को लेकर आया हूँ | What is software पोस्ट की मदद से आप जान पाएंगे की सॉफ्टवेयर क्या है? और यह कितने प्रकार के होते है |

इसमे आप जान सकते है कि कोनसा सॉफ्टवेयर किस क्षेत्र में काम आता है और क्यों? इसी के साथ आप इसमे सॉफ्टवेयर से जुड़ी सभी जानकारी आसानी से जान सकते हो|

What Is Software:-

1.सॉफ्टवेयर(Software):-

हम कंप्यूटर की सहायता से अनेक  कार्यो को आसानी से पूरा  कर सकते है| असल में कंप्सयूटर की सभी गतिविधियाँ  सॉफ्टवेयर की सहायता  से की  जाती है जो किसी एक Secondary  मेमोरी डिवाइस में संग्रहित होती है| सॉफ्टवेयर प्रोग्राम का एक और नाम है| सॉफ्टवेयर प्रोग्रामो का संग्रह है जो एक विशेष प्रयोजन के लिए लिखा गया है| एक प्रोग्राम कुछ भी नही बस एक निर्देशों  का समूह है जो किसी एक विशेष प्रोग्रामिंग भाषा में लिखा गया है| सॉफ्टवेयर के दो प्रमुख प्रकार है:

  • सिस्टम सॉफ्टवेयर(System Software)
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर(Application Software)

1.1 सिस्टम सॉफ्टवेयर(System Software):-

System Software एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो यूजर से पहले  से कमांड को लेकर उसका आदान प्रदान करता है और फिर Application Software के साथ मिलकर काम करता है| सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर को अपने आंतरिक कंपोनेंट्स को कार्य करने के लिए सक्षम बनाता है| सिस्टम सॉफ्टवेयर (System Software) सिर्फ एक सॉफ्टवेयर नही है, बल्कि कई Softwares  का एक ग्रुप होता  है| सिस्टम सॉफ्टवेयर  के आवश्यक  घटक निम्ननुसार  है:-

1.1.1 ऑपरेटिंग सिस्टम(Operating System):-

Operating  System  सिस्टम सॉफ्टवेयर(System Software)का एक घटक  है जो की कंप्यूटर Software और hardware  कंपोनेंट्स  का ग्रुप है  और कंप्यूटर सॉफ्टवेयर  के लिए आम सेवाएँ पदेता  है| यह कंप्यूटर और यूजर के बीच एककनेक्टिविटी  बनाता है|

विंडोज ओएस (Windows OS) कंप्यूटर पर सबसे अधिक व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम में से एक है| लिनक्स और यूनिक्स ओएस भी कुछ विशेष प्रकार की एप्लीकेशन में इस्तेमाल किया जाता है| वे कई प्रकार के होते है, जैसे एम्बेडेड(Embedded), वितरित(Distributed), वास्तविक समय(Real Time) आदि|

ये भी जाने:-

1.1.2 सिस्टम  यूटीलिटीज  (System Utilities):-

यूटीलिटीज विभिन्न प्रकार की सेवाएँ है जो की ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा प्रदान की जाती है| यूटीलिटीज जैसे डिस्क फ्रग्मेंटर unwanted Files को हटाने एवं डिस्क के संसाधनों को पूर्ण रूप से काम में लेने के लिए उपयोगी होती है| इस सुविधा के द्वारा हम डिस्क हम स्पेस को भी व्यवस्थित कर सकते है|

1.1.3 डिवाइस ड्राईवर(Device Drivers):-

ये एक तरह के खास तरह के सॉफ्टवेयर  होते है जो अन्य input और output devices को बाकि के कंप्यूटर प्रणाली के साथ कम्युनिकेट करने की अनुमति देता है |

1.2 एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर(Application Software):-

Application Softwar ऐसे  सॉफ्टवेयर होते  है जो किसी खास  रूप से यूजर के लिए रेडी  किये जाते है- इनको एंड  यूजर प्रोग्राम्स भी कहते है| कुछ प्रोग्राम्स जैसे MS Office, Web Browser, Antivirus आदि  एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की केटेगरी में आते है| इन प्रोग्राम्स को बेसिक या स्पेशलाएज्ड एप्लीकेशन के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है|

1.2.1 बेसिक एप्लीकेशन(Basic Application):-

इन क्षेत्रो में Application का ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है :

  • व्यापार
  • शिक्षा
  • चिकित्सा विज्ञान
  • बैंकिंग
  • इंडस्ट्रीज

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर(Application Software) का उपयोग हम  अनेक कार्यो  के लिए कर सकते है जैसे Message सेंड करना, डाक्यूमेंट्स रेडी करना, स्प्रेडशीट बनाना, Database,  Online Shopping  आदि| यह  सॉफ्टवेयर इस तरीके से बनाये  जाते है जिससे यूजर के लिए काम करना के लिए आसान हो जाता है| उदाहरण के लिए यदि कई यूजर किसी भी वर्ड फाइल को बनाता तो उसे margin, line spacing, font साइज़ पहले से ही फिक्स  मिलता है  जिसे वो अपने अनुसार बदल  सकता है| यूजर Documents  में कलर भरने, हेडलाइंस, और पिक्चर अपने हिसाब से  जोड़ सकते है|

ये भी जाने:-

उदाहरण:- एक Web Browser  एक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर ही जैसे विशेष रूप से internet पर पाई जाने वाली Information  एवं Content  ढूढने  के लिए तैयार किया गया है|

वेब ब्राउज़र के नाम:- Internet Explorer, Mozilla Firefox, Google Chorme एवं Safari.

1.2.2 स्पेशलाएज्ड एप्लीकेशन:-

स्पेशलाएज्ड एप्लीकेशन  में हजारो अन्य प्रोग्राम है जो की विशिष्ट विषयों और व्यवसायों पर ध्यान केन्द्रित करते है| कुछ सबसे अच्छे प्रोग्राम है – ग्राफ़िक्स, ऑडियो, विडियो, मल्टीमीडिया, वेब लेखन और कृत्रिम बुध्दि(Artificial Intelligence).

 

System SoftwareApplication Software
कंप्यूटर को सभी कंपोनेंट्स को कार्य करने के एक्टिव बनाता है|उपयोगयूजर  को Documents  के साथ कार्य करने के लिए useful  बनाता है|
अनिवार्य हैआवश्यकतावैकल्पिक उपयोग तथा आवश्यकता पर निर्भर करता है|
हर एक कंप्यूटर को एक सिस्टम सॉफ्टवेयर की आवश्यकता रहती है|सॉफ्टवेयर की संख्याहर एक कंप्यूटर पर एक से अधिक एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर हो सकते है|
आत्मनिर्भर: इस बिना एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की भी उपयोग किया जा सकता है|निर्भरतानिर्भरता: एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर, सिस्टम सॉफ्टवेयर के बिना कार्य नही कर सकता है|
एप्लीकेशन को रन करने हेतु आवश्यक एन्वारंमेंट प्रदान करता है|फंक्शनउपयोगकर्ता को विशिष्ट कार्य करने हेतु जरुरी एन्वारनमेंट प्रदान करता है|

 

ये भी जाने:-

मैं आशा करता हूँ कि आपको हमारी What is Software? पोस्ट पसंद आई होगी यदि आप इसी तरह कि और भी पोस्ट पाना चाहते हो हमें सब्सक्राइब करे और साथ में इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले|

आपके किमती समय के लिए धन्यवाद|

Please share
yadram on Facebookyadram on Instagramyadram on Twitter
yadram
मेरा नाम yadram agnihotri है | मैंने यह ब्लॉग सभी को technology से जोड़ने के लिए create किया है | इसमे मै अपनी छोटी सी knowledge के जरीये सोशल मीडिया ट्रिक्स ,tech hack ,computer tricks ,technical knowledge और मोबाइल technology के बारे में daily update करता रहता हूँ | जिससे सभी technology से जुड़े रहे |

Leave a Reply